शनिवार, फ़रवरी 12, 2005

नमस्कार

पहिल पोस्टिंग कय रहल छी। बहुत दिन स मोन सबसबायल छल मैथिली में किछ लिखबाक लेल। त वएह कारण अछि, सब ठीक ठाक रहल त लिखाई हैबे करतई।

5 Comments:

Blogger मिर्ची सेठ said...

लिखते रहिए। इसी बहाने हम भी थोड़ी मैथिली पढ़ लेंगे।

1:33 pm  
Blogger Jitendra Chaudhary said...

बधाई हो भाई.
अब तनिक इ बताया जाय कि मैथिली और हिन्दी मे कहाँ कहाँ फर्क है.

4:14 pm  
Blogger eSwami said...

वाह!

12:16 am  
Blogger namaste said...

वाह, क्या ख़ूब!

लगता है, एक भला क़दम उठाया आपने.
हिंदी से और आगे हो जाए, ब्लॉग दुनिया का भाषिक स्थानीकरण.

और "भाषानामा" आगे उत्सुक इंतज़ार करूँगा...

10:58 pm  
Blogger Gajendra Thakur said...

नमस्कार ठाकुर जी। बहुत दिन सँ नहीं तँ एतहि, नहिए मिथिला दर्पणपर अहाँ लिखि रहल छी। विदेह लेल सेहो अहाँक रचनाक प्रतीक्षा अछि।

গজেন্দ্র ঠাকুব

12:04 am  

एक टिप्पणी भेजें

<< Home